गुजरात भूलेख नक्ष (7/12) – भूमि अभिलेख मानचित्र ऑनलाइन @ anyror.gujrat.gov.in भूमि रिकॉर्ड देखे (ग्रामीण/शहरी) सम्पति खोज

0 Comments

गुजरात भूलेख नक्ष (7/12) – भूमि अभिलेख मानचित्र ऑनलाइन @ anyror.gujrat.gov.in भूमि रिकॉर्ड देखे (ग्रामीण/शहरी) सम्पति खोज

गुजरात सरकार का राजस्व विभाग भूमि विवरण ऑनलाइन देखने की सुविधा प्रदान कर रहा है anyror.gujrat.gov.in अब लोग गुजरात भूमि अभिलेख मानचित्र ऑनलाइन ढूंढ सकते है और गुजरात में अपनी भूमि का भूलेख नक्ष प्रपात कर सकते है अब लोग आधिकारिक किसी भी गुजरात वेबसाइट या ई-धारा वेब भूलेख वेबसाइट पर वेब भूलेख लॉगिन कर सकते है लोगो को अपने गुजरात भूलेख 7/12 भूमि रिकॉर्ड के लिए कतारों में इंतजार नहीं करना पड़ेगा और आसानी से गुजरात भूमि रिकॉर्ड सुचना प्रणली तक पहुँच सकते है।

अब

लोग खसरा खतौनी नंबर खतौनी की डुप्लीकेट कॉपी और भूमि अभिलेख मानचित्र का ऑनलाइन विवरण ऑनलाइन जाँच सकते है राज्य सरकार गुजरात भूमि अभिलेख सुचना प्रणली तक आसान पहुचं प्रदान करने और भूलेख नक्ष प्राप्त करने के लिए एक न्य एनी आरओआर @ एनिवेयर पोर्टल शुरू किया है गुजरात भूलेख ७/१२ सतबार उतरा २०२२ अब भूमि रजिस्टर से उपलब्ध है जो भूमि अभिलेखों को खोजने की प्रकिया को भी आसान बनता है।

भूलेख नक्ष-भूमि अभिलेख मानचित्र @ anyror गुजरात पोर्टल
गुजरात भूलेख नक्ष को आधिकारिक वेबसाइट
anyror.gujrat.gov.inपर चेक किया जा सकता है इस आधिकारिक वेबसाइट पर निम्लिखित लिंक (जैसा की निचे सेवा रिकॉर्ड का नक्शा ऑनलाइन प्रपात करने के लिए इन लिंक्स पर किल्क कर सकते है।

गुजरात भूमि अभिलेख ऑनलाइन सेवाए

लोग अब आधिकारिक anyror.gujrat.gov.inवेबसाइट पर ग्रामीण क्षेत्रों शहरी क्षेत्रों और राजस्व मामले के आकड़ो के भूमि रिकॉर्ड देख सकते है इसके आलावा लोग आधिकारिक वेबसाइट पर निम्नलिखत भूमि अभिलेख मानचित्र ऑनलाइन सेवाओं का लाभ उठा सकते है।

* भूमि रिकॉर्ड देखे-ग्रामीण लोग पुराने स्कैन किए गए vf6 प्रविष्ट विवरण की सुविधा का लाभ उठा विवरण (एम.बी.ए.डी) वीएफ खाता विवरण प्रख्याति गांव के लिए पुराण से न्य सर्वेशन संख्या माह-वर्ष के अनुसार प्रवेश सूचि एकीकृत सर्वेक्षण कोई विवरण नहीं कोर्ट केस विवरण

क्या है गुजरात भूलेख 7/12 (सतबारा) उतरा 2021
7/12 भूमि रजिस्टर से एक उद्धरण है जिसे भारत में गुजरात और महाराष्ट्र दवरा बनाए रखा जाता है गुजरात भूलेख 7/12 की महत्पूर्ण विशेषताए इस प्रकार है।

* 7/12 अर्क जानकारी परदन करता है भूमि की सर्वेक्षण संख्या भूमि के मालिक का नाम किसान भूमि क्षेत्रफल खेती का प्रकार (सिंचित या वर्षा संचित ) और पिछले खेती के मौसम में लगाए गए फसलों पर।

* गुज्भलेख सरकार दवरा दिए गए भूमि मालिक को दिए गए शर्ण का ट्रेक रिकॉर्ड भी रखता है एजेंसिया इसमें बीज कीटनाशक या उवरक खरीदने के लिए शरण या सब्सिडी जिसके लिए शर्ण दिया गया था मालिक या किसान को दिए गए शर्ण जैसे विवरण शमिल है।
* गुजरात भूमि रिकॉर्ड दस्तावेज उस भूमि के सवमित्व का प्रमाण प्रदान करता है जिसका वह प्रतिनिधित्व करता है ग्रामीण क्षेत्रों में लोग 7/12 उद्धरण के आधार पर शर्ण के विशेष भूखंड का स्वामित्व स्थापित कर सकते है क्योंकि यह भूमि अधिकारों का रिकॉर्ड है।

गुजरात भूमि अभिलेख सुचना प्रणाली लाभ
गुजरात में ऑनलाइन भूमि रिकॉर्ड सुचना प्रणली के निम्नलिखित लाभ है।

* glris ग्रामीण क्षेत्रों में एक-ई-गवनेस वातावरण बनाने में मदद करता है।
* किसान और भूमिधरक नाममात्र शुल्क के भुगतान पर रिकॉर्ड्स ऑफ राइट्स (आरओआर) की कम्प्यूटरीकृत प्रतिया प्रपात कर सकते है।
* उत्परिवर्तन अनुरोध प्रकिया के लिए कार्यप्रवाह स्थापित किया गया है।
* तलाठी के आलावा राजस्व रिकॉर्ड का एक न्य सॉर्ट बांया गया है जो अधिक प्रदर्शित सुनिश्रित करता है और भूमि अभिलेखों में न्यूनतम छेड़छाड़ सुनिश्रित करता है।
* glris ने भूमि संबंधी मुकदमेबाजी के मामलो में मदद की है और mis डेटा का उपयोग भूमि सुधर और भविष्य की योजना में किया जा सकता है।

भूमि अभिलेख सुचना प्रणाली ने भूमि अभिलेखों को मान्य और उपयोग करने के लिए अन्य हितधारकों के प्रयासों को काम कर इससे अन्य भूमि संबंधी विभागों जैसे अधिग्रहण प्रसाशन प्रकिया आसान हो गई है।

ई-धारा वेब भूलेख गुजरात
गुजरात राज्य में ई-धरा वेब भूलेख आसान पारदर्शी अऊर सुरक्षित तरीके से गांव के भूमि रिकॉर्ड तक पहुँच और रखरखाव को सक्षम बनता है मुख्य उदेश्य भोतील ग्राम भूमि अभिलेखों को इलेक्ट्रॉनिक अभिलेखों में परिवर्तन करना है गुजरात ई-धारा वेब भूलेख सुरक्षित तरीके से ग्राम भूमि अभिलेखों के रखरखाव और अध्यतन को स्वचलित करेगा ई-धारा वेब भूलेख विवरण के लिए निचे दिए गए लिंक पर किल्क करे।

https://gil.gujarat.gov.in/edhara.html

ई-धारा केंद्र (ईडीके) तालुका मामलतदार कार्यलय में स्थापित किआ गए है ताकि पहुँच प्रदान करने और भूमि रिकॉर्ड को स्केलेबल तरिके से अपडेट तरीके से अपडेट किया जा सकेभूमि अभिलेखों की दिन-प्रतिदिन की गतिविधियों जैसे म्यूटेशन और रिकॉर्ड ऑफ राइट्स जारी करना लागु किया जा रहा है किसान भी ग्राम पंचायत से ही आरओआर की प्रतिया प्राप्त कर सकते है।