यूरिक एसिड में क्या खांए और क्या नहीं खाना चाहिए।

यूरिक एसिड में क्या खांए और क्या नहीं खाना चाहिए।

यूरिक एसिड में क्या खांए और क्या नहीं खाना चाहिए :- यूरिक एसिड की परेशानी में अपने खान पान का ख्याल रखना बेहद जरुरी है अगर आपको यह जानकारी नहीं है की यूरिक एसिड में कया खाना चाहिए और कया नहीं तो हमारा लेख जरूर पढ़ें शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने पर जोड़ो में सूजन और दर्द की समस्या होने लगती है और अगर सही समय पर इसका इलाज ना करे तो ये गठिया का रोग बन सकता है जिससे उठने बैठने व चलने फिरने में परेशानी आने लगती है।

यदि

बहुत अधिक यूरिक एसिड शरीर में रहता है, तो हाइपरयूरिसीमिया नामक एक स्थिति उत्पन्न होगी। हाइपरयूरिसीमिया से यूरिक एसिड (या यूरेट) के क्रिस्टल बन सकते हैं। ये क्रिस्टल जोड़ों में बस सकते हैं और गठिया का कारण बन सकते हैं, गठिया का एक रूप जो बहुत दर्दनाक हो सकता है। वे गुर्दे में भी बस सकते हैं और गुर्दे की पथरी का निर्माण कर सकते हैं।

यूरिक एसिड आपके शरीर में कई कारणों से एकत्रित हो सकता है। इनमें से कुछ हैं:आहार, आनुवंशिक ,मोटापा या अधिक वजन होना ,तनाव |आप अपने आहार में यूरिक एसिड के स्रोत को सीमित कर सकते हैं। प्यूरीन युक्त खाद्य पदार्थों में कुछ प्रकार के मांस, समुद्री भोजन और सब्जियां शामिल हैं। ये सभी खाद्य पदार्थ यूरिक एसिड को छोड़ देते हैं जब वे पच जाते हैं।

कुछ लोग हाई यूरिक एसिड लेवल कम करने के लिए दवा और रामबाण घरेलू उपाय करते है पर इसके साथ साथ रोगी को अपने आहार (डाइट) पर भी ध्यान देना चाहिए। ऐसे में इस बात की जानकारी होना जरुरी है की यूरिक एसिड बढ़ने पर क्या खाएं क्या न खाए। आहार में बदलाव व जरुरी परहेज से यूरिक एसिड को कम कर सकते है। आज इस लेख में हम जानेंगे यूरिक एसिड कितना होना चाहिए और इसे कैसे कम करे,यूरिक एसिड में क्या खाएं।

* जाने जोड़ों और घुटनों में दर्द के उपाय

यूरिक एसिड की मात्रा कितनी होनी चाहिए

1 शरीर में पाचन के दौरान आहार में जो प्रोटीन होता है उससे प्यूरीन बनता है और इससे यूरिक एसिड बनता है जो कि पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकलता है पर जब ये शरीर में जमा होने लगता है तब कई समस्याएं होने लगती है।

2 पुरुषों में इसका लेवल 3.4 से 7.0 mg/dl और महिलाओं में 2.4 से 6.0 mg/dl होना चाहिए।

3 यूरिक एसिड क्यों बढ़ता है, हाई प्रोटीन और शुगर वाले फूड अधिक खाने से शरीर में यूरिक एसिड लेवल बढ़ने लगता है। जेनेटिक कारणों से भी कुछ लोगों का यूरिक एसिड हाई होता है।

4 किडनी में खराबी के कारण भी यूरिक एसिड शरीर से बाहर नहीं निकल पाता और शरीर में ही जमा होने लगता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण

* जोड़ों और पैरों में दर्द महसूस होना
* पैर की एड़ियों और अंगूठे में दर्द करना
* जोड़ों में सूजन आने लगना
* जोड़ों में गाँठ पड़ना
* उठने बैठने में घुटनों व जोड़ों में दर्द होना

यूरिक एसिड में क्या खाएं

1 विटामिन सी शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने से रोकता है और इसे कम करने में भी मदद करता है। अपने आहार में विटामिन C से भरपूर फूड और फल शामिल करे जैसे नींबू व संतरा। नींबू पानी पिने से शरीर भी साफ होता है।

2 पानी ज्यादा पिएं इससे शरीर में जमा यूरिक एसिड पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाता है। प्रतिदिन 3 से 4 लीटर पानी पीने की आदत बनाये।

3 यूरिक एसिड में क्या खाएं: अपनी डाइट में एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर फूड खाएं। ये शरीर में फ्री रेडिकल्स के असर को कम करते है। अंगूर, लाल शिमला मिर्च, ब्रोकली, टमाटर और ब्लूबेरी में विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट अधिक होते है।

4 लौकी का जूस हाई यूरिक एसिड को कम करने का अच्छा घरेलू उपाय है। सुबह खाली पेट एक गिलास लौकी का जूस पिए। जूस को बनाते समय पुदीने और तुलसी के 5-5 पत्ते भी डाल ले।

5 ऐसे आहार जिनमें फाइबर अधिक मात्रा में होते है यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में उपयोगी है।

6 सोने से पहले रात को 1 गिलास पानी में अर्जुन की छाल का 1 चम्मच चूर्ण और आधा चम्मच दालचीनी का पाउडर मिला कर इसे चाय की तरह उबाले फिर इसे छान कर पिए। इस नुस्खे को 90 दिन तक नियमित रूप से करने पर uric acid control में आने लगेगा।

7 एक गिलास पानी में सेब के सिरके के 2 से 3 चम्मच मिलाकर पीने से भी काफी फायदा मिलता है।

8 गाजर, चुकंदर और सेब का जूस रोजाना पीने से बॉडी में ph लेवल बढ़ता है और यूरिक एसिड कम होता है।

9 भोजन पकाने के लिए जैतून का तेल इस्तेमाल करे, ये बॉडी में यूरिक एसिड को बढ़ने से रोकता है।

10 नारियल पानी भी यूरिक एसिड कंट्रोल में रखने में अचूक काम करता है।

* जाने यूरिक एसिड का इलाज कैसे करे

यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए

1 अंडे (egg) में फैट और प्रोटीन अधिक होता है और इस रोग में प्रोटीन के सेवन से परेशानी बढ़ सकती है।
2 बेकरी में बनी हुई चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।
3 चावल व दाल के सेवन से भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है।
4 सोने से पहले रात को दाल और दूध का सेवन ना करे।
5 ड्राई फ्रूट्स, चावल, दही, पालक, अचार का सेवन करने से परहेज करना चाहिए।
6 डिब्बा बंद आहार से भी यूरिक एसिड बढ़ता है, फास्ट फूड, चिप्स, कोल्ड ड्रिंक से परहेज करें।
7 यूरिक एसिड के बढ़ने पर नॉन वेज खाने से परहेज करे। नॉन वेज खाने से शरीर में यूरिक एसिड लेवल बढ़ता है।
8 खाना खाते वक़्त पानी ना पिए। खाना खाने के 1 घंटा पहले और बाद में ही पानी पिए।
9 धूम्रपान और शराब से भी यूरिक एसिड बढ़ता है और इससे शरीर को नुकसान भी होता है।

* दादी माँ के घरेलू नुस्खे
* बाबा रामदेव पतंजलि की आयुवेर्दिक दवा