वैशाख मास की पूर्णिमा 07 मई ,2020 को  सुपर फ्लॉवर दिखाई देगा

वैशाख मास की पूर्णिमा के दिन दिखेगा सुपर मून और इस दिन मनाई जायेगी बुद जयंती

बैशाख पूर्णिमा के दिन नदी में  स्नान करना बहुत फलदायक माना जाता है इस

दिन बुद्ध पूर्णिमा यानि बुद्ध जयंती भी मनाई जाती है और इस बार   की  पूर्णिमा इसलिए खास है क्योकि इस दिन साल का आखिरी सुपरमून भी दिखाई देगा

वैशाख पूर्णिमा ,बुद्ध जयंती सुपर फ्लॉवर मून 2020 :-

 

इस साल वैशाख मास की पूर्णिमा 07 मई को मनाई जायेगी ऐसे बुद्ध पूर्णिमा के नाम से भी जानते है क्योकि इसी दिन भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था और इस पूर्णिमा के दिन चाँद अपने पूर्ण आकर में दिखाई देता है लेकिन इस बार पूर्णिमा पर चाँद का आकार अधिक बड़ा और चमकीला दिखाई देगा क्योकि 07 मई को साल का आखरी सुपरमून दिखाई देने वाला है

07 मई को क्या है खाश

वैशाख पूर्णिमा –

वैशाख पूर्णिमा को अत्यंत शुभ और फलदायक मन जाता है इस दिन नदी में स्नान करने का विशेष महत्व होता है और पितरो का तर्पण करने के लिये ये दिन बहुत ही शुभ माना जाता है अगर इस दिन आप तीर्थ स्थल पर नहीं जा सकते तो घर पर ही नहाने के पानी गंगा जल डालकर नहा सकते हो इसके बाद भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करनी चाहिये

बुद्ध जयंती –

वैशाख पूर्णिमा का दिन जैन धर्म के लिये खास होता है क्योकि इस दिन भगवान गौतम बुद्ध का जन्म हुआ था और भगवान बुद्ध ने ही बौद्ध धर्म की स्थापना  थी

उनकी दि हुई   शिक्षा से आज भी लोगो के जीवन का मूल मंत्र है गौतम बुद्ध का जीवन हर किसी के लिये प्ररेणादायी है 35 वर्ष की आयु में ही उन्हें ज्ञान की

प्राप्ति हो गई थी संसार का मोह जाल त्याग कर तपस्वी बन गये

वैशाख पूर्णिमा के दिन सुपर मून :-

इसे सुपर फ्लोवर मून भी कहते है इस दिन साल का आखिरी सुपरमून दिखाई देगा इस दिन चाँद पृथ्वी के बेहद करीब होता है जिसके कारण चाँद ज्यादा चमकीला और ज्यादा

 

बड़ा दिखाई देता है

07 मई  को  सुपर फ्लॉवर दिखाई देगा

 

Leave a Reply