Hanuman ji ki Arti : सारे संकट हर लेते है बजरंग बली यहाँ पढ़े- हनुमान लला की आरती

Hanuman ji ki Arti : सारे संकट हर लेते है बजरंग बली यहाँ पढ़े- हनुमान लला की आरती

पवन पुत्र और भगवान राम के अनन्य सेवक श्री हनुमानजी अपने भक्तों पर आने वाले सभी संकटो को हर लेते है और इसी वजह से वो संकट मोचक कहलाते है प्रत्येक भक्त को हनुमान जी की पूजा करने के बाद अंत में रोज में उनकी आरती करनी चाहिए।

आरती हनुमान जी की

आरती कीजै हनुमान लला की दुर्ष्ट दलन रघुनाथ कला की जेक बल से गिरिवर कंपे रोग दोष जेक निकट न झाँके अंजनी पुत्र महाबलदायी संतान के प्रभु सदा सहाई दे बीरा रघुनाथ पठाए लंका जारी सीया सुध लाए लंका सो कोट समुन्द्र सी खाई जात पवनसुत बार न लाई लंका जारी असुर सहारे सियारामजी के काज सावरे लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे आणि सजीवन प्राण उबारे पेठी पताल तेरि जम कारे अहिरावण की भुजा उखाड़े बाए भुजा असुरदल मारे दाहिने भुजा संतजन तारे सुर-नर-मुनि जन आरती उतरे जै जै हनुमान उचारे कंचन थार कपूर लौ छाई आरती कर्त अंजना माई लंकविध्वंस कीन्ह रघुराई तुलसीदास प्रभु कीर्ति गाई जो हनुमान जी की आरती गावे बसी बैकुंठ परमपद पावै आरती कीजे हनुमान लला की दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।

हनुमान
जी की आरती का महत्व

हनुमान जी की पूजा करने से भक्तो के सारे कष्टों का अंत हो जाता है उसे सुख-शांति और समृद्धि की प्राप्ति होती है हनुमान जी अपने हर भक्त से बहुत ज्यादा प्यार करते है और इस कारण वो अपने किसी भी भक्त को हनुमान लला की मन से पूजा कनी चाहिए हनुमान जी की आरती करने से इंसान भयमुक्त हो जाता है शास्त्रों के अनुसार अगर आप कसीस रोग का निदान चाहते है तो आपको हनुमान जी आरती रोज करनी चाहिए इसके पाठ से नकरात्मक शक्तियां दूर होती है और सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है यही नहीं जो इंसान हनुमान जी की आरती नियमित रूप से करता है उसके परम् धाम जाने का मार्ग सरल हो जाता है।