हिंदी निबंध: सपनों का भारत

 

हिंदी निबंध: सपनों का भारत

 

संकेत बिंदु:

·    सोने की चिड़िया

·    वर्तमान की समस्या

·    मेरा सपना

·    उपचार

 

  • सोने की चिड़िया:-

भारत अंग्रेज़ों का गुलाम बनने से पहले तक बहुत आमिर हुआ करता था, इतना की विदेशी पर्यटकों और विदेशी रियासतों ने भारत को सोने की चिड़िया का नाम तक दे दिया। भारत के पास बहुत सोना, पैसा, खजान और कई सारे कीमती हिरे – जवाहरात भी था और दुनिया का सबसे महंगा और बेशकीमती हीरा कोहिनूर भारत के पास था। परन्तु जब भारत में अंग्रेज़ों का आगमन हुआ और एक – एक करके भारत के सभी रियासतों को अपने कब्जे में लेती गई

तो भारत गरीब होता चला गया क्यूंकि अंग्रेज भारत के सभी खजाने लूट कर, छीन कर और हत्या कर ब्रिटेन भेजने लगें। लेकिन भारत के वीर क्रांतिकारियो द्वारा प्राण गवाने के बाद, जेल में रहने के बाद और सत्याग्रह करने के बाद 15 अगस्त, 1947 को भारत आज़ाद हुआ, जिससे भारत को अंग्रेज़ों की करीब 200 वर्ष की गुलामी से छुटकारा मिला।

 

  • वर्तमान की समस्या:-

भारत ने आज़ाद होने के बाद लोकतंत्र को चुना। भारत में लोकतंत्र चुनने के बाद सबको समानता का अधिकार मिला और सब एक समान हो गए। पर इसके बाद भी कई समस्याएं आई जो अब तक चल रही है और वर्तमान में और समस्याएं आ रही है।

  1. भ्रष्टाचार:- भारत में आज भी भ्रष्टाचार बहुत है, हालांकि पिछले कुछ सालों में यह काम हुआ है। भारत में भ्रष्टाचार लगभग हर जगह फैला हुआ है, शैक्षिक संस्थान, पुलिस, अस्पताल, राजनीती और जनता के किसी भी विकास के लिए भ्रष्टाचार है। पर जब से सोशल मीडिया आई है तब से भ्रष्टाचार थोड़ा कम हुआ है। अगर भ्रष्टाचार पूरी तरह से खत्म हो जाए तो देश की आधी समस्या हूँ ही ख़तम हो जाएगी।

 

  1. शैक्षिक संसथान:- भारत की शिक्षा प्रणाली कुछ ज़्यादा अच्छी नहीं है पर अब बहुत बेहतर हो गई है। भारत के शहरों में शिक्षा प्रणाली बहुत अच्छी है, परन्तु यह गाओं तक जाते – जाते यही शिक्षा प्रणाली दम तोड़ता दिखती है। भारत के ज्यादातर छात्र बहुत होनहार है पर सरकारी शिक्षा संस्थानों में और प्राइवेट शिक्षा संस्थानों में मोटी फीस के चलते अपनी पढाई अच्छे से नहीं कर पातें है। भारत में शिक्षा संस्थानों मैं बहुत सुधार होना चाहिए और बच्चों और देश के भविष्य को उज्जवल बनाना चाहिए। क्यूंकि पढ़ेगा इंडिया, तभी तो बढ़ेगा इंडिया।

 

  1. धर्म और जाती:– भारत एक धर्म निर्पेक्ष देश है, हर किसी भारतवासी को देश में समान अधिकार है। धर्म निर्पेक्ष होने के बाद भी देश में धर्म और जाती के नाम पर आज भी हिंसक प्रदर्शन और दंगे होते है, जो धर्म निर्पेक्ष राष्ट्र के लिए चिंता का विषय है। भारत के हर किसी धर्म और जाती को एक नजर से देख कर और मिल कर रहना चाहिए। भारत के सभी नागरिकों को एकता और भाईचारे पर बल देना चाहिए और इस देश को खूबसूरत बनाना चाहिए।

 

  • मेरा सपना:-

मेरे सपना यह है की मेरा देश हब तरक्की करें, गरीबी दूर हो, सरकार और राज नेता सरकार ईमानदारी से चलाएं, सभी लोग ईमानदारी से काम करें, पूरा देश सुन्दर और स्वच्छ हो, अपराध ख़त्म हो जाएं, सबको शिक्षा मिलें, अच्छा इलाज मुहैया हो, कानून व्यवस्था ठीक ह और सब खुश रहे।

 

  • उपचार:-

सरकार, सरकारी कर्मचारी और जनता हर किसी को अपना कर्तव्य निभाना चाहिए और ईमानदारी से अपना काम करना चाहिए। हर व्यक्ति को सच का साथ देना चाहिए। देश को सुधरने में मदद करनी चाहिए। हर किसी को अपने कर्तव्य याद होने चाहिए और उसका पालन बखूबी करना चाहिए।  कुछ बुरा होता देख उसका विरोध करके मदद करना चाहिए और देश को जल्द से जल्द दुनिया में सर्वोच्च पायदान पर ले आना चाहिए।

Leave a Comment