भारतीय संविधान के कुछ रोचक तथ्य

भारतीय संविधान के कुछ रोचक तथ्य

 

विश्व के हर गणतंत्र देश का संविधान है। भारत भी एक गणतंत्र देश है जिसका अपना संविधान है। भारतीय संविधान दिवस 26 नवंबर को मनाया जाता है। इसी दिन सन 1949 में भारतीय संविधान बन कर तैयार हुआ था और संविधान सभा के सभी सदस्यों ने संविधान पर हस्ताक्षर किये थें। भारत 15 अगस्त, 1947 को अंग्रेज़ों से आज़ाद हुआ और एक स्वतंत्र राष्ट्र कहलाया। भारत ने राजतंत्र को खत्म किया और लोकतंत्र अपनाया। और लोकतंत्र देश को संविधान की जरुरत होती है, और इसी भारतीय संविधान के कुछ रोचक तत्व हम यहाँ जानेंगे।

 

  1. भारतीय संविधान
    सभा की पहली बैठक 9 दिसंबर, 1946 को हुई थी।

 

  1. भारतीय संविधान 26 नवंबर, 1949 को बन के तैयार हुआ।

 

  1. भारतीय संविधान 2 साल 11 महीने और 18 दिन में बन कर तैयार हुआ।

 

  1. भारतीय संविधान विश्व में अब तक का सबसे बड़ा लिखित संविधान है।

 

  1. भारतीय संविधान सभा में कुल 299 सदस्य थें।

 

  1. भारतीय संविधान सभा के सभापति राजेंद्रप्रसाद थे।

 

  1. डॉ भीम राव अम्बेडकर को भारतीय संविधान सभा के जनक के रूप में जाना जाता है।

 

  1. भारतीय संविधान को बनाने में कुल 64 लाख रुपए खर्च हुए थे।

 

  1. भारतीय संविधान सभा ने 22 जुलाई, 1947 को तिरंगा झंडे को राष्ट्रीय झंडा घोषित किया।

 

  1. भारतीय संविधान सभा को दुनिया के करीब 60 देशों के संविधानों से प्रेरित हो कर तैयार किया गया है।

 

  1. भारतीय संविधान को अंतिम रूप देने से पहले तक संविधान में करीब 2000 से ज़्यादा संशोधन किये।

 

  1. भारतीय संविधान हिंदी और इंग्लिश भाषा में लिखा गया है।

 

  1. भारतीय संविधान भारतीय संसद की लाइब्रेरी में रखा गया है।

 

  1. भारतीय संविधान को लिखने का कार्य श्री प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ने किया।

 

  1. भारतीय संविधान पर हस्तशिल्प कलाकारी शांतिनिकेतन के कलाकारियों ने की थी।

 

  1. भारतीय संविधान के सबसे पहला प्रकाशन देहरादून में किया गया था।

 

  1. भारतीय संविधान 26 नवंबर, 1949 में पूरी तरह बन कर तैयार हो गया था।

 

  1. भारतीय संविधान पर कुल 284 संविधान सभा के सदस्यों ने हस्ताक्षर किये थें।

 

  1. भारतीय संविधान को 26 जनवरी, 1950 को लागु किया गया जिसे गणतंत्र दिवस नाम दिया गया।

 

  1. गणतंत्र दिवस के दिन ही राजेंद्रप्रसाद देश के पहले राष्ट्रपति बने।

 

Leave a Comment