Lakshmi Jayanti 2021 : लक्ष्मीजयंती 28 March को , शुभमुहूर्त

Lakshmi Jayanti 2021 : लक्ष्मीजयंती 28 March को , शुभमुहूर्त

 

हरसालफाल्गुनकीपूर्णिमाकेदिनहिंदूपंचांनकेअनुसारलक्ष्मीजयंतीकापर्वमनायाजाताहै।शास्त्रोंकेअनुसारइसदिनमाँलक्षमीकीपूजाकरनेकाविशेषमहत्त्वहै।क्युकीमनजाताहैइसदिनमाँलक्ष्मीअवतरितहुईथी।इसपूजाकाशुभमुहूर्तऔरविधिजानेकेलिएयेलेखपूरापढ़े।

पुराणोंकेअनुसारजबराक्षसऔरदेवताओकेमध्यहुआथातबहीमाँलक्ष्मीअवतरितहुईथी।जिसदिनअवतरितहुईथीउसदिनफाल्गुनकीपूर्णिमाकादिनथा।उसदिनमाँलक्ष्मीके 1008 नमोकाउच्चारणकरनेसेहरमनोकामनापूरीहोतीहै।

शुभमुहूर्त –

पूर्णिमाकीप्रारभतिथि : – 28.03.2021 सुबह 03:27 बजे

पूर्णिमाकीसमाप्ततिथि :- 29.03.2021 सुबह 12:17 बजे

पूजाकीप्रकिया –

इसदिनब्रह्नमुहूर्तमेंउठकरसभीकामोंनेनिवृत्तहोकरस्नानकरेऔरसाफवस्त्रपहनकरमांलक्ष्मीकाध्यानकरे।अबमंदिरमेंआसनबिछाकरपूर्वदिशाकीओरमुखकरकेबैठजाए।इसकेबादएकचौकीमेंलालरंगकाकपड़ाबिछाकरमांलक्ष्मीकीमूर्तियातस्वीररखें।

अबलोटेमेंजलकरपहलेआचमनकरे।माँलक्षमीकोलालरंगकाफूलचढ़ाएं।माँकोसिंदूरलगाए।माँकोअपनीइच्छाअनुसारभोगलगाए।भोगकेसाथसाथजलभीअर्पितकरे।धुपऔरदीपककीआरतीकरे।इसकेबादलक्ष्मीचालीसाऔरमंत्रकाजापकरकेविधि-विधानसेआरतीकरें।

माँलक्ष्मीकामंत्र –

मांलक्ष्मीकेइनमंत्रोंकाजापकरनेसेआपकोआर्थिकसमस्याओंसेछुटकारामिलेगा।इसकेसाथहीजीवनमेंआरहीहरपरेशानीसेछुटकारामिलेगा।

ॐधनायनमः

धनायनमोनमः

ॐलक्ष्मीनमः

ॐह्रींह्रींश्रीलक्ष्मीवासुदेवायनाम:

पद्माननेपद्मपद्माक्ष्मीपद्मसंभवेतन्मेभजसिपद्माक्षियेनसौख्यंलभाम्यहम्।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *