Baba Ramdev for Migraine and Asthma try these Pranayam for effective relief

Baba Ramdev for Migraine and Asthma try these

Pranayam for effective relief

माइग्रेन  ऒर   साइनस  में इंस्ट्रेट आराम देगा बाबा रामदेव का

असरदार उपाय ,दूर हो जायेगी समस्या।

 

माइग्रेन  ऒर   साइनस  की समस्या से  परेशान है। तो  बाबा रामदेव के बताये गये  असरदार उपायअपनाये। इससे बहुत ही जल्दी आराम   मिलेगा आपको

माइग्रेन  ऒर   साइनस  की समस्या तो आज आम बात हो गई है। क्योकि धीरे -धीरे मौसम बदल रहा। है और बदलते मौसम की वजह से व्यक्ति सर्दी जुकाम की वजह से  साइनस  की चपेट में आ जाते है। लेकिन जब मौसम बदले तब  साइनस ( सांस की बीमारी ) की बीमारी से के   लोगो को अपनी सेहत पर विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता है। क्योकि कई बार ऐसा होता है की साइनस की समस्या 4 सप्ताह में खत्म  हो जाती है। लेकिन कई बार ज़िंदगी भर के  लिये रह जाती है। स्वामी  बाबा रामदेव के अनुसार योग और प्रणायाम से  माइग्रेन  ऒर   साइनस  में आराम मिल जाता है.और ऐसी की साथ स्वामी बाबा रामदेव ने  साइनस  में इंस्ट्रेट फायदा के लिये कुछ एक्युप्रेशर पॉइंट बताये है. और माइग्रेन में कौनसी औषधि कारगर है। इसके बारे में स्वामी  बाबा रामदेव ने जानकारी दी है।

 साइनस के लक्षण :

1 -नाक का बंद होना

2 बार -बार छींक आना

3 सिर का भारी लगना

4 नाक में पोलिप

5 एलर्जिक राइनाटिक

6 साईनोसाइटिस

 माइग्रेन ऒर साइनस में जलेबी से होगा  फायदा :-  माइग्रेन ऒर साइनस दोनों ही में जलेबी  खाने से भी   होंगे आपको  फायदा । और ये कोई स्पेशल जलेबी नहीं है। यह वही जलेबी है। जो साधारण तय हम सब खाते ही रहते है। और बहुत आसानी से बाजार और घर पर भी बनाई जाने वाली जलेबी है। लेकिन यहाँ हमे  माइग्रेन ऒर साइनस के लिये जलेबी देशी घी की बनी होनी चाहिये।

साइनस :- में प्रतिदिन (Daily ) करे प्रणायाम

1 कपालभाति 10 से 15 मिनिट रोजाना करे।

2 भसित्रका 3 से 5 मिनिट तक रोजना करे

3 जलनेति और सूत्रनेति फायदेमंद

सूर्य नमस्कार से होने वाले फायदे :- माइग्रेन ऒर साइनस दोनों  में सूर्य नमस्कार

करने  से बहुत फायदा होता है।

1 . रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ता

2 एनर्जी लेवल को बढ़ाने में सहायक

3 शरीर में लचीलापन

4 पाचन तंत्र स्ट्रोंग रहता

5 यादाश्त (स्मरण शक्ति ) बढ़ाता

6 बॉडी को डिटॉक्स करता है

7 वजन बढ़ाने ने सहायक

8 स्किन में ग्लो

9 टेंशन की समस्या से दूर होती है

 

शीर्षासन के फायदे :-

1 तनाव (टेंशन ) &चिंता से मुक्ति

2 आत्मविश्वास ,(कॉन्फिडेंस ) ,साहस और निडरता

हलासन के फायदे :–

कमर और रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाता

2 डायबटीज (शुगर )को कंट्रोल

3 स्किन में  ग्लो आता

4 माइग्रेन के दर्द में लाभदायक

5 तनाव और थकान को दूर करता

6 सर दर्द में आराम

7 डायजेशन सिस्टम को स्ट्रोग

सर्वागासन से फायदे :-

 

शारीरिक संतुलन बनाये रखता

बढ़ती उम्र (एजिंग ) को रोकने में सहायक

ब्रेन एनर्जी का फ्लो

मंडूकासन :-

मंडूक का मतलब है मेढ़क अर्थात इस आसन को करते समय मेढ़क के आकार  जैसी स्थिति प्रतीत होती है ,इसलिये इसे मंडूकासन कहते है।

कब्ज और गैस की समस्या को जड़ से खत्म करता है।

पाचनतंत्र को स्ट्रॉग बनता है।

शुगर और कोलाइटिस को नियंत्रण  करता है

वजन कम करने में सहायक

लिवर और किडनी को स्ट्रोंग रखे

इम्युनिटी सिस्टम को बढ़ता

छींक से बचाव :-सरसों के तेल की कुछ बुँदे नाक में डालने से छींक आने से बचाव होता है। और नाक में जमा कफ बाहर निकल जाता है। और इसे कफ की समस्या से छुटकारा मिल जाता है।

साइनस से बचने के उपाय :-

शुद्ध सरसों के गर्म तेल से दोनों हाथ की हथेलियों की मसाज करे

शुद्ध सरसों के  तेल से कान के ऊपर भी मसाज करे।

रात में एक गिलास पानी में एक लॉंग डालकर गर्म कर उस पानी केो  पीने से फायदा होगा

नाभि में 2 -3 बूँद सरसों का तेल लगाये।

 

साइनस  में इंस्ट्रेट आराम  का एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट :-गर्दन के पीछे की दोनों हड्डियों के बीच वाले गड्डे को दबाने से भी तुरन्त लाभ मिलेगा।

हाथ के ऊपर से पैरों को दबाये।

माइग्रेन या सिर का दर्द :- माइग्रेन एक प्रकार का  मस्तिक या सिर दर्द की  बीमारी है। यह रोग होने पर व्यक्ति को सिर में बहुत दर्द होता है।  किसी को तो   आधे सिर  दर्द होता है।   और कुछ लोगो को पुरे सिर में दर्द होता है। दोनों ही बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को प्रणायाम करने से अधिक लाभ होगा।   और दो -तीन दिन लगातार होता रहता है। जिसके कारण कुछ लोगो को तो आँखो में भी दर्द होने लगता है   भारत में लगभग 15 करोड़ लोग  माइग्रेन की बीमारी से परेशान है कई लोग माइग्रेन की समस्या से छुटकारा पाने के लिये कई तरह की मेडिशन (दवाई )का सेवन करते है। माइग्रेन की बीमारी टेंशन ,नींद पूरी नहीं होने के कारण ,या ज्यादा सोने भी हो सकता है।

माइग्रेन ऒर साइनस के लिये बहुत ही गुणकारी जलेबी :-

 

सुबह -सुबह दूध के साथ  गरमा गर्म  देशी धी जलेबी खाने से माइग्रेन का दर्द छूमंतर हो जाता है। और पुरे दिन आपका मूड अच्छा रहता है। और जिन लोगो

को टेंशन की समस्या है और अधिक काम करने की वजह से आराम नहीं कर पाते जिसके कारण उनके स्वभाव में चिड़चड़ापन आ जाता है। उन लोगो को भी  -सुबह दूध के साथ  गरमा गर्म  देशी धी जलेबी का सेवन करना चाहिये क्योकि  ऐसा करने से टेंशन या तनाव कम होता है। और जो लोग दुबले पन के शिकार है। उन्हें भी रोजना दूध जलेबी का सेवन करना चाहिए।

माइग्रेन के लिये कौन -कौन से व्यायाम करे

अनुलोम -विलोम

उदिध

शीतकरी

भ्रामरी

शीतरी

माइग्रेन की आयुर्वेदिक औषधि :-

बादाम के तेल का इस्तेमाल करने से  Nervous System (नर्वस सिस्टम ) में फायदा होगा

माइग्रेन या सिर के दर्द  में आयुर्वेदिक तेल बहुत गुणकारी है

 

ऐसे बनाये  आयुर्वेदिक तेल :-अजवाइन सत ,देशी घी 10 -10 ग्राम। और अब इसमें 10 ग्राम यूक्लिप्टस तेल मिलाये और फिर 10 ग्राम लौंग का तेल मिलाये।

और इन सब का मिश्रण तैयार कर अपने सिर में मालिश करने से आपको फायदा मिलेगा। ओर गेहूँ के ज्वारे का रस का सेवन करे। ,सिर में चिकनी मिट्टी का

लेप लगाये ऐसा करने से माइग्रेन और सिरदर्द में लाभ मिलेगा।

 

 

 

Leave a Reply