यूरिक एसिड के बढ़ने से पैरों में सूजन हो सकती है , स्वामी रामदेव जी बताए है ये उपाए !

यूरिक एसिड के बढ़ने से पैरों में सूजन हो सकती है , स्वामी रामदेव जी बताए है ये उपाए !

 

शरीर में यूरिक एसिड बढ़ाने से पैरों में सूजन और दर्द की समाया हो सकती  है।  यूरिक एसिड को सामे रहते नियत्रित कर लेना चाहिए ताकि लिवर को ख़राब होने से रोका जा सके।  हम जो कुछ खाते हैं उससे यूरिक एसिड बनता है। यूरिक एसिड को किडनी फिल्टर करती है और बॉडी के बाहर निकाल देती है। लेकिन जब किडनी यूरिक एसिड को फिल्टर नहीं कर पाती तो एड़ियों में तेज दर्द शुरू हो जाता है। पैरों में सूजन

आ जाती है, शुगर हाई हो जाती है, किडनी में स्टोन के साथ किडनी के फेल होने का खतरा बढ़ जाता है।

हाई यूरिक एसिड जिंदगी को 11 साल कम कर देता है और किडनी के साथ साथ हार्ट की बीमारियों, डायबिटीज़, स्ट्रोक का रिस्क भी कई गुना बढ़ा देता है। स्वामी रामदेव से जानिए किन योगासनों के द्वारा इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है। एक साल में को कंट्रोल करने के लिए स्वामी रामदेव के योग और आयुर्वेद बहुत फायदे मन्द है।

यूरिक एसिड की मात्रा

महिलाओ में – 2.4 से 6.0 mg/dl

पुरुष में – 3.4 से 7.0 mg/dl

यूरिक एकड़ के लक्षण कैसे पता चले है पैरों में दर्द , पैरों में सूजन , ज्वाइंट्स में दर्द  , हाई शुगर , अधिक नीद आना , बुखार आना अदि।

कौन से योग कर सकते है ताड़ासन, तिर्यक ताड़ासन, कटिचक्रासन , सूक्ष्म व्यायाम , कोणासन, मकरासन , चक्की आसान , उष्ट्रासन, मर्कटासन , पवनमुक्तासन , हलासन , सर्वांगासन, शीर्षासन, उत्तानपादासन, अदि।

click here

यूरिक एसिड के बढ़ने से पैरों में सूजन हो सकती है , स्वामी रामदेव जी बताए है ये उपाए !  …

Leave a Reply

Your email address will not be published.